लाइव ट्रेडिंग रणनीतियाँ

क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार

क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार
दुनिया भर में निवेशकों के बीच बिटक्वाइन (BitCoin) जैसी क्रिप्टो करेंसी में निवेश को लेकर आकर्षण बढ़ रहा है.

क्रिप्टोकरेंसी क्या है? | Cryptocurrency In Hindi | What Is Cryptocurrency Kya Hai

इस पोस्ट मे आप क्रिप्टोकरेंसी क्या है (Cryptocurrency kya hai) के बारे मे जानेंगे, आप मे से कई लोग अक्सर What is Cryptocurrency In Hindi के बारे मे इंटरनेट पर ढूँढ़ते होंगे पर क्या आपको सरी जानकारी सही मिल पाती है। नहीं, क्योंकि हर कोई आपको हर जानकारी सही नहीं दे पाता है।

इस कारण मैने यह पोस्ट तैयार की है, जिसका उद्देश्य है आपको क्रिप्टो करेंसी भारत के बारे मे जानकारी देना। जिसके द्वारा आप जान सकें की What Is Cryptocurrency In Hindi यानी cryptoccurrency kya hota hai और यह किस प्रकार कार्य करता है। तो चलिए जानते है क्रिप्टो करेंसी क्या है के बारे मे विस्तार से।

क्रिप्टोकरेंसी क्या है – Cryptocurrency In Hindi

यह एक प्रकार की डिजिटल मुद्रा यानी वर्चुअल करेंसी का प्रकार है। क्रिप्टोकरेंसी का प्रयोग आप वास्तविक रूप मे न करके digital माध्यम से कर सकते है। इसका उपयोग वस्तु तथा सेवाओं को खरीदने आदि के लिए प्रयोग होता है। इस प्रकार क्रिप्टो करेंसी एक विकेन्द्री मुद्रा है जो कि ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर आधारित एक मुद्रा का प्रकार है। तो क्रिप्टो करेंसी क्या है के बारे मे आप जान गए होंगे।

क्रिप्टोकरेंसी क्या है Cryptocurrency In Hindi Cryptocurrency kya hai

क्रिप्टोकरेंसी कैसे कार्य करती है – How Cryptocurrency Works

यह ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर आधारित एक मुद्रा का प्रकार है। क्रिप्टोकरेंसी एक ऐसी मुद्रा है जिसको डिजिटल माइनिंग के द्वारा निकाला जाता है। इसमे कई प्रकार की जटिल coding होती है, जिसपर भारी और महंगे computer के द्वारा cryptocurrency minning की जाती है।

जिसके बाद वह मुद्रा बाहर निकलती है। इस मुद्रा को फिर मार्केट मे बेचा व खरीदा जाता है। क्रिप्टो करेंसी को आप कई ऑनलाइन पोर्टल के द्वारा या फिर किसी अन्य माध्यम से भी खरीद कर रख सकते है या फिर खरीदी हुई क्रिप्टोकरेंसी को अच्छे दाम पर बेच कर मुनाफा भी कमा सकते है। तो इस प्रकार यह मुद्रा कार्य करता है।

क्रिप्टोकरेंसी की विशेषताएं (Features of cryptocurrency)

  • क्रिप्टोकरेंसी का आदान-प्रदान व लेन-देन किसी को भी किसी के द्वारा किया जा सकता है।
  • यह एक डिजिटल मुद्रा है इस कारण आप क्रिप्टो करेंसी ऑनलाइन ही खरीद सकते है।
  • इसमें पारदर्शिता (ट्रांसपेरेंसी) है, इसी कारण इसको खरीदने व बेचने के बारे मे सटीक जानकारी नहीं मिल पाती है।
  • cryptocurrency डिजिटल मुद्रा का एक रूप है।
  • यह विकेन्द्रीकृत मुद्रा है जिसपर किसी एक का अधिकार न होकर सभी का अधिकार होता है।

ब्लॉकचैन क्या है

क्रिप्टोकरेंसी की बातो हो रही है तो ब्लॉकचैन का नाम बार-बार आएगा तो इसके बारे मे भी जानना आपके लिए जरूरी है। यह एक प्रकार क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार का डिजिटल लेजर है जिसके अंदर सभी क्रिप्टोकरेंसी मुद्रा के रिकार्ड्स को सुरक्षित रखा जाता है।

ब्लॉकचैन मे डाटा तो रहता है यानी Cryptocurrency के लेन-देन की जानकारी होती तो है पर उसको कोई देख नहीं पाता और न ही पता कर पाएगा। क्योंकि इसको हैक करना सबसे कठिन होता है। इस कारण भविष्य मे ब्लॉकचैन Cryptocurrency के साथ-साथ अन्य कई जगह भी कार्य करेगा।

क्रिप्टोकरेंसी की शुरुआत

2009 मे डेवलपर सातोशी नाकामोटो (Satoshi Nakamoto) के अथक प्रया के बाद पहली विकेन्द्रीकृत क्रिप्टोकरेंसी जिसका नाम बिचकॉइन (BITCOIN) है को जारी किया, यह SHA-256 हैश फंक्शन पर आधारित एक मुद्रा है। वर्तमान समय मे यह मुद्रा दुनिया की सबसे महंगी मुद्रा है।

Total Cryptocurrency In World

जनवरी 2022 तक मे अभी के अनुसार पूरी दुनिया मे 6000 से भी अधिक क्रिप्टोकरेंसी कार्य कर रही है। आप इन सभी मुद्राओं को किसी अच्छे ऑनलाइन platform से खरीद कर रख सकते है या फिर बाद मे मुनाफे पर भी बेच सकते है।

दुनिया की प्रसिद्ध क्रिप्टोकरेंसी – क्रिप्टो करेंसी के नाम

Cryptocurrency Kya Hai Cryptocurrency In Hindi

जैसा मैने ऊपर बताया है क्रिप्टोकरेंसी की संख्या हजारो मे है पर कुछ ऐसी Cryptocurrency है जो अभी के समय मे पूरी दुनिया मे फेमस है अपने प्राइस तथा अपने विस्तार के आधार पर जो इस प्रकार है।

  • 1 Bitcoin = $50,000
  • 1 Ethereum = $4000
  • 1 Binance Coin = $540
  • 1 क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार Ripel = $0.99
  • Dogecoin = $0.12
  • Litecoin Etc.

और पढे :-

बिटकॉइन क्या है इन हिंदी

Bitcoin सबसे प्रसिद्ध क्रिप्टोकरेंसी है, जिसको सातोशी नाकामोटो (Satoshi Nakamoto) ने 2009 मे बनाया था। अगर आप बिटकॉइन का प्रयोग करते है किसी भी प्रकार के लेन देन मे तो इसकी जानकारी कोई भी सरकार नहीं पा सकती है।

क्योंकि इसके लेन-देन मे किसी भी व कोई भी बैंक की मध्यस्ता नहीं होने के कारण इसकी जानकारी जैसे किसने बेचा व किसने खरीदा के बारे मे कोई भी नहीं जान सकता है। इसी कारण यह मुद्रा काफी ज्यादा प्रयोग की जाती है। इसी कारण यह सबसे ज्यादा फेमस Cryptocurrency In Hindi है।

एथेरियम क्या है इन हिंदी

Ethereum आपकी Bitcoin के बाद सबसे ज्यादा प्रयोग मे लाई जाने वाली डिजिटल मुद्रा है। जिसके विटालिक बुचेरिन ने 2015 मे बना कर दुनिया के नाम पेश किया। अगर बिटकॉइन के बाद किसी मुद्रा का प्रयोग होता है, तो इथेरियम का ही सबसे ज्यादा होता है। इस कारण यह काफी ज्यादा फेमस Cryptocurrency है।

तो आपको क्रिप्टोकरेंसी क्या है, Cryptocurrency In Hindi यानी Cryptocurrency kya hai की जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताए तथा पोस्ट को शेयर भी जरूर करें।

Ripple Cryptocurrency (XRP) क्या है?

Ripple Cryptocurrency (XRP) क्या है?

रिपल Ripple एक प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी Cryptocurrency होती है और यह डिजिटल करेंसी (XRP) होती है। क्योंकि इसका उपयोग डिजिटल रूप में ही किया जाता है। पिछले कुछ सालों से क्रिप्टोकरेंसी मुद्राओं की लोकप्रियता बढ़ी है। यह सिर्फ डिजिट के रूप में ऑनलाइन रहती है। ये डिजिटल मुद्रा digital currency इनक्रिप्टेड यानी कोडेड coded होती हैं। Ripple के द्वारा बैंकिंग लेनदेन का देश विदेश में आसानी से भुगतान हो जाता है तथा क्रिप्टो करेंसी को खरीदना तथा बेचना भी काफी सरल होता है। इसे डिजिटल मनी digital money, वर्चुअल मनी virtual money भी कहा जाता है।

Podcast

Continue Reading..

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर आजकल खूब चर्चा हो रही है। यह करेंसी इस समय काफी अच्छी करेंसी मानी जा रही है और इसका उपयोग भी बहुत अधिक हो रहा है। इस करेंसी का उपयोग बहुत से देशों में किया जाता है, क्योंकि यह बहुत ही ज्यादा विकसित हो रहा है। क्रिप्टोकरेंसी को आप अपनी तिजोरी में नहीं रख सकते, न ही बैंक के लॉकर में रख सकते हैं। क्योंकि यह Digits के रूप ऑनलाइन रहती है। आज की बात करें तो एक Ripple Cryptocurrency (XRP) के माध्यम से सभी प्रकार के लेनदेन बैंकिंग प्रणाली विदेशी भुगतान तथा सभी मुद्राओं में व्यापार करना आसान हो चुका है। चलिए विस्तार से जानते हैं कि Ripple Cryptocurrency से ये सब कैसे संभव है, क्या है रिप्पल क्रिप्टोकरेंसी और रिपल करेंसी कैसे कार्य करती है।

क्या है Ripple Cryptocurrency

रिप्पल क्रिप्टोकोर्रेंसी XRP की शुरुआत लंदन में 2003 Jed Mccaleb जेड मैकलेब जो की एक अमेरिकन प्रोग्रामर हैं, के द्वारा की गई थी। रिपल एक प्रकार की डिजिटल करेंसी (XRP) होती है, क्योंकि इसका उपयोग डिजिटल रूप में ही किया जाता है। XRP के द्वारा हम कई प्रकार की करेंसी को सम्मिलित करके व्यापार कर सकते हैं। जैसे कि एथेरियम कॉइन ethereum coin, रिप्पल कॉइन Ripple coin, बिटकॉइन bitcoin, लाइट कॉइन इत्यादि और ऐसी ही और भी क्रिप्टो करेंसी इस समय मार्केट में मौजूद है। इसका उपयोग करना बहुत ही आसान होता है, जिस प्रकार हम अन्य क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज या खरीद सकते हैं, ठीक उसी प्रकार रिप्पल कॉइन को भी खरीदा जा सकता है। आसान भाषा में कहें तो क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल कैश प्रणाली है, जो कम्प्यूटर एल्गोरिदम Algorithm पर बनी है। वैश्विक बाजार में इसके आने का मुख्य उद्देश्य बाजार में होने वाले लेनदेन के निर्माण को सस्ता और सरल करना है। यह मौजूदा समय के हिसाब से डिजाइन किया गया है। जो कि Banking Cryptocurrency के रूप में काफी अच्छी भुगतान व्यवस्था है। XRP का पेमेंट केवल मात्र 4 सेकंड में पूरा हो जाता है और इस प्रकार xrp प्रतिदिन लगभग 2000 लेन देन प्रति सेकंड संभाल सकता है।

रिपल करेंसी कैसे कार्य करता है

रिपल करेंसी Ripple currency अन्य क्रिप्टो करेंसी की तरह ही कार्य करता है लेकिन इसके कार्य करने का तरीका कुछ अलग है। ये तो हम जानते हैं कि रिपल करेंसी एक प्रकार की डिजिटल करेंसी (XRP) होती है। यह एक प्रकार का open payment network होता है, जिसका उपयोग करके हम करेंसी को किसी अन्य व्यक्ति को ट्रांसफर करते हैं। यह टोकन आधारित प्रणाली token based system के अंतर्गत आता है। इसमें DLT Technic का प्रयोग किया गया है। इसमें यह रिप्पल नेट के ढांचे के भीतर के कई नए लेन देन को स्थापित करता है इस प्रोटोकॉल का नाम रिप्पल प्रोटोकॉल कंसेंसस एल्गोरिथ्म Ripple Protocol Consensus Algorithm work के नाम पर रखा गया है। इसमें विशेष प्रकार के सर्वर और XRP टोकन सम्मिलित होते हैं। यह एक प्रकार की Highly Cryptocurrency है और रिप्पल हाईली सिक्योर secure है। जिसका independence cover द्वारा संचालन किया जाता है।

रिपल करेंसी के लाभ और उपयोग

रिप्पल का उद्देश्य मौजूदा बैंकिंग प्रणाली को और अच्छा बनाना है जहां विदेशी भुगतान overseas payment से पूंजी तथा सोना और यहां तक कि हवाई मेल की सुविधाएं मिलती हैं। इसके निर्माण के पीछे यह लक्ष्य इस तरह के लेनदेन को और अधिक जल्दी तथा सस्ता बनाना है। Ripple के द्वारा बैंकिंग लेनदेन का देश विदेश में आसानी से भुगतान हो जाता है तथा क्रिप्टो करेंसी को खरीदना तथा बेचना भी काफी सरल होता है। यह लेनदेन की प्रक्रिया को तेजी से करना तथा वित्तीय समस्याओं financial problems को हल करने में कारगर साबित हो रहा है। यह एक डिजिटल करेंसी digital currency होती है, इसका उपयोग करके हम किसी भी व्यक्ति को या स्वयं के क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार बैंक में बड़ी आसानी से भेज सकते हैं। यह अन्य Cryptocurrency या फिर bitcoin की अपेक्षा काफी तेज एवं सरल तरीके से कार्य करता है। रिपल करेंसी का उपयोग अपने पैसों को छिपाकर रखने के उपयोग में किया जाता है। यह विश्व में किसी भी प्रकार की मुद्रा के साथ व्यापार करने की क्षमता रखते हैं। इसका उपयोग इसलिए अधिक हो रहा है, क्योंकि यह बहुत ही सुरक्षित एवं सरलता पूर्वक कार्य क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार करने वाली करेंसी है। यह वित्तीय व्यवस्था को बढ़ावा boost the financial system देता है तथा अर्थव्यवस्था में काफी फायदेमंद साबित होता है इसी वजह से लोगों का ध्यान XRP की तरफ ज्यादा जा रहा है। अब इसका उपयोग इसलिए अधिक हो रहा है, क्योंकि यह बहुत ही सुरक्षित एवं सरलता पूर्वक कार्य करने वाला करेंसी है।

रिप्पल करेंसी की कीमत, कहाँ से खरीदें और पैसे कैसे कमाएं

रिप्पल करेंसी Ripple currency की कीमत अन्य क्रिप्टो करेंसी की तुलना में बहुत ही कम होती है लेकिन रिपल करेंसी Ripple Cryptocurrency की कीमत दिन प्रतिदिन धीरे-धीरे बढ़ती ही जा रही है। इसमें लोगों को काफी फायदा हो रहा है। इसमें मुनाफा profit भी अधिक होता है। अब अगर इस करेंसी currency को खरीदना है तो कैसे खरीदें,यह भी जानना जरुरी है। इस रिप्पल कॉइन को खरीदने के लिए बहुत सी वेबसाइट website हैं। इनके द्वारा हम रिपल कॉइन को बड़ी ही आसानी से खरीद सकते हैं। कुछ वेबसाइट हैं जैसे -बाययूकॉइन (buyUcoin.com), कॉइनडेल्टा (coindelta.com), बिट इंडिया (bitindia.com) आदि वेबसाइट का उपयोग करके हम रिप्पल कॉइन को खरीद सकते हैं। रिप्पल कॉइन से पैसे कमाना अब काफी आसान हो गया है। जैसे कि आपको पता है कि रिप्पल कॉइन ripple coin की कीमत समय-समय पर बढ़ती एवं घटती रहती है। हमें इसके लिए रिप्पल कॉइन की मार्केट में बढ़ती एवं घटती कीमत पर ही ध्यान देना है। हमें रिप्पल कॉइन को तब ज्यादा खरीदना चाहिए जब रिपल कॉइन की कीमत मार्केट में बहुत ही कम हो जाए और इसे अपने रिप्पल वॉलेट ripple wallet में बहुत ही सुरक्षा पूर्वक स्टोर कर लेनी चाहिए। फिर जब रिपल कॉइन की कीमत मार्केट में अधिक हो तब हम अपने रिप्पल कॉइन को बेच सकते हैं। इस तरह से आप अधिक मुनाफा more profit कमा सकते हैं।

Cryptocurrency क्या है, Popular cryptocurrencies in Hindi

(Cryptocurrency in Hindi) is a digital currency, secured by cryptography and based on blockchain technology.

Cryptocurrency

क्रिप्टो करेंसी क्या है (Cryptocurrency in Hindi)

क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल, क्रिप्टोग्राफ़ी द्वारा सुरक्षित और ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर आधारित मुद्रा है।

Cryptocurrency is a digital, cryptographically secured and blockchain technology based currency.

क्रिप्टो करेंसी का मतलब | Cryptocurrency Meaning in Hindi

टेक्नोलॉजी बहुत तेजी से बदल रही है जिससे लोगों के काम करने, संवाद करने, खरीदने और भुगतान करने का तरीका भी बदल गया है। यह सब समय के साथ बढ़ती टेक्नोलॉजी के साथ साथ बदलता रहता है।

आज के समय में लोगों ने कैश रखना बहुत कम कर दिया है जो लेनदेन हो रहे है उसमें ज्यादातर डिजिटल होते है, और यह डिजिटल लेनदेन आम जनमानस का हिस्सा बन गए है। कॉर्पोरेट्स और कंस्यूमर धीरे धीरे कैश से लेनदेन कम करते जा रहे हैं और स्मार्टफोन ने इस डिजिटल लेनदेन की प्रक्रिया को आसान और तेज कर दिया है।

डिजिटल लेनदेन के साथ डिजिटल करेंसी भी पैर जमा रही है, यह डिजिटल करेंसी क्रिप्टोकरेंसी है।

क्रिप्टोकरेंसी शब्द की उत्पत्ति | Origin of Cryptocurrency word in Hindi

क्रिप्टोकरेंसी शब्द कह सकते हैं नया शब्द है, जो 21 वीं सदी की शुरुआत से ही आया है। यह दो शब्दों – ग्रीक शब्द ‘kryptos’ जिससे ‘क्रिप्टो’ लिया गया है जिसका अर्थ है ‘छिपा हुआ या गुप्त’ और लैटिन शब्द ‘currere’ जिससे ‘करेंसी’ लिया गया है जिसका अर्थ है ‘चलाना’ से मिलकर बना है।

क्रिप्टोकरेंसी कैसे काम करती है? | How Does Cryptocurrency Work in Hindi?

क्रिप्टो करेंसी डिजिटल मनी है जिसे आप छू नहीं सकते, जेब में नहीं रख सकते यानी यह करेंसी का डिजिटल रूप है और यह पूरी तरह से ऑनलाइन है। इसे क्रिप्टोग्राफी द्वारा सुरक्षित किया जाता है। कई क्रिप्टोकरेंसी ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर आधारित हैं और इनकी कोई भी सेंट्रल अथॉरिटी नहीं है।

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक नयी डिजिटल भुगतान प्रणाली है जिसका लेनदेन का सत्यापन बैंकों पर निर्भर नहीं होता है और क्रिप्टोक्यूरेंसी का इस्तेमाल वस्तुओं और सेवाओं के भुगतान के लिए ऑनलाइन आदान-प्रदान किया जा सकता है।

पहली क्रिप्टोक्यूरेंसी 2009 में आयी और एक दशक से भी कम समय में दुनिया भर में अरबों डॉलर की क्रिप्टोकरेंसी लेनदेन में है। शायद आपने बिटकॉइन के बारे में सुना हो यह पहली क्रिप्टोकरेन्सी थी और उसे लोगों ने स्वीकार किया और उसके बाद अन्य क्रिप्टोकरेंसी आयी जो धीरे धीरे पॉपुलर हो रही हैं। आज के समय में लोग क्रिप्टोकरेंसी को ज्यादातर ऑनलाइन ट्रेड में लाभ के लिए इस्तेमाल करते हैं।

करेंसी किसे कहते हैं | What is Currency in Hindi

हर देश की अपनी मुद्रा (Currency) होती है जैसे कि अमेरिका की डॉलर, यूरोपियन यूनियन की यूरो, भारत की रुपया, पाकिस्तान की पाकिस्तानी रुपया, चीन की युआन है यानी एक ऐसी भुगतान प्रणाली जो किसी देश द्वारा मान्य/अधिकृत हो और वहां के लोग इसके इस्तेमाल से चीजें खरीद सकते हों, जिसकी कोई वैल्यू हो, करेंसी (Currency) कहलाती है।

क्रिप्टोकरेंसी कितनी सुरक्षित है? | How secure is Cryptocurrency in Hindi?

ज्यादातर क्रिप्टोकरेंसी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का उपयोग करके बनाई जाती है। ब्लॉकचेन डिजिटल कोड में लेनदेन को रिकॉर्ड करता है। यह एक काफी जटिल, तकनीकी प्रक्रिया है जिससे हैकर्स के लिए छेड़छाड़ करना मुश्किल है।

इसके अलावा, क्रिप्टोकरेंसी में लेनदेन के लिए two-factor authentication की प्रक्रिया भी होती है। जैसे, लेनदेन शुरू करने के लिए आपको Username और Password दर्ज करने के लिए कहा जा सकता है। या फिर, आपको एक authentication code दर्ज करना पड़ सकता है जो आपके व्यक्तिगत मोबाइल फ़ोन पर टेक्स्ट के माध्यम से आता है।

डिजिटल मुद्रा कहाँ स्टोर कर सकते हैं? | Where can you store Digital Currency in Hindi?

यदि आप क्रिप्टोकरेंसी खरीदते हैं, तो आप इसे क्रिप्टो एक्सचेंज पर या क्रिप्टो डिजिटल वॉलेट में स्टोर कर सकते हैं। कई अलग-अलग प्रकार क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार के वॉलेट हैं, प्रत्येक के अपने फायदे और सुरक्षा हैं।

सबसे लोकप्रिय क्रिप्टो करेंसी कौन सी हैं? | What are the most popular Crypto Currencies?

इसमें कोई शक नहीं कि सबसे पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन है। बिटकॉइन (Bitcoin) अब तक की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी है, इसके बाद एथेरियम(Ethereum), लाइटकॉइन (Litecoin) और टीथर (Tether) जैसी अन्य क्रिप्टोकरेंसी हैं।

bitcoin

bitcoin

क्रिप्टो करेंसी के नाम | Cryptocurrency Names in Hindi

Bitcoinबिटकॉइन
Ethereumएथेरियम
Litecoinलाइटकॉइन
Binance Coinबिनेंस कॉइन
Cardanoकार्डानो
Dogecoinडॉगकॉइन
Polka Dotपोल्का डॉट
Uniswapयूनिस्वैप
Rippleरिपल
Dashडैश
Tetherटीथर
Crypto Currency Names in Hindi

Popular Crypto Currency

Popular Crypto Currency

भारत में क्रिप्टोक्यूरेंसी कानूनी है? | Cryptocurrency legal in India in Hindi?

अभी भारत में बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी गैर कानूनी नहीं हैं, लेकिन रेगुलेटेड भी नहीं हैं इसका मतलब अगर क्रिप्टोकरेंसी लेनदेन में कुछ भी गलत होता हैं तो आप किसी अथॉरिटी, बैंक और सरकार के पास नहीं जा सकते।

भारत में निजी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों की संख्या बढ़ रही है, लेकिन सरकार के पास कोई आधिकारिक डेटा नहीं है। और सरकार के पास इन एक्सचेंजों से जुड़े निवेशकों की संख्या के बारे में भी कोई जानकारी नहीं है।

Question for you?

टेक्नोलॉजी हमेशा ही जन मानस की उत्सुकता को बढ़ाती रही है आप क्या कहते है की क्रिप्टोकरेंसी के साथ कैसे आगे बढ़ना चाहिए। कमेंट करिये-

Investment in Crypto Currencies: BitCoin में निवेश का स्टेपवाइज प्रॉसेस, इन तीन चार्जेज के बारे में भी जानकारी है जरूरी

Investing in Crypto Currencies: भारत में बिटक्वाइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश को लेकर निवेशक आकर्षित हुए हैं लेकिन अधिकतर के मन में यह सवाल रहता है कि इसकी शुरुआत कैसे की जाए.

Investment in Crypto Currencies: BitCoin में निवेश का स्टेपवाइज प्रॉसेस, इन तीन चार्जेज के बारे में भी जानकारी है जरूरी

दुनिया भर में निवेशकों के बीच बिटक्वाइन (BitCoin) जैसी क्रिप्टो करेंसी में निवेश को लेकर आकर्षण बढ़ रहा है.

Investing in Crypto Currencies: भारत समेत दुनिया भर में निवेशकों के बीच बिटक्वाइन (BitCoin) जैसी क्रिप्टो करेंसी में निवेश को लेकर आकर्षण बढ़ रहा है. पिछले कुछ वर्षों में इसने निवेशकों को शानदार रिटर्न दिया है. क्रिप्टोकरेंसी एक प्रकार की वर्चुअल करेंसी है जिसे कंप्यूटर पर जटिल समीकरणों को हल कर माइन किया जाता है. इसे माइन करने वाले यानी माइनर्स को रिवार्ड के तौर पर क्रिप्टो क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार करेंसी मिलती है लेकिन जिन्हें तकनीकी समझ नहीं है, वे भी क्रिप्टो हासिल कर सकते हैं. जिस प्रकार कंपनी के शेयरों की बीएसई और एनएसई जैसे एक्सचेंजों पर खरीद-बिक्री होती है, वैसे ही क्रिप्टो एक्सचेंजों पर बिटक्वाइन जैसे क्रिप्टो की खरीद-बिक्री होती है यानी कि आपको अगर बिटक्वाइन में निवेश करना है तो किसी एक्सचेंज पर जाकर आसानी से इसमें पैसे लगा सकते हैं.

इस प्रकार कर सकते हैं क्रिप्टो में निवेश

क्रिप्टों में निवेश के लिए वजीरएक्स (WazirX), क्वाइनडेक्स (Coindex), जेबपे Zebpay, क्वाइनस्विच कुबेर (Coin Switch Kuber) और यूनोकॉइन UnoCoin जैसे एक्सचेंज हैं. क्रिप्टो में निवेश के लिए पहले आपको एक्सचेंज की साइट पर जाकर पर्सनल डिटेल्स के जरिए रजिस्ट्रेशन करना होगा.

Stocks in News: Tata Chemicals Maruti Vedanta Tata Power जैसे शेयरों में रहेगा एक्‍शन, इंट्राडे में करा सकते हैं मुनाफा

Dabur India: बादशाह मसाला बनेगा डाबर इंडिया के लिए गेम चेंजर, शेयर खरीदने पर होगा मुनाफा, ये है टारगेट प्राइस

Stock Market: ऑटो शेयरों ने संभाला बाजार, सेंसेक्‍स 203 अंक बढ़कर बंद, निफटी 17787 पर, MARUTI टॉप गेनर

  • क्रिप्टो करेंसी की वेबसाइट पर जाकर साइन अप करिए.
  • फिर ई-मेल वेरिफिकेशन के बाद सिक्योरिटी पेज आएगा जिसमें ऐप, मोबाइल एसएमएस या कोई सिक्योरिटी विकल्प न चुनने का विकल्प आएगा.
  • सिक्योरिटी विकल्स को ओके करने के बाद देश चुनने और केवाईसी चुनने का विकल्प मिलेगा. केवाईसी के तहत पर्सनल और कंपनी में से किसी एक को चुनना होता है जो बाय डिफॉल्ट पर्सनल पर होता है.
  • केवाईसी के लिए अपनी व्यक्तिगत जानकारियां जैसे कि नाम, जन्म तिथि, पता, पैन कार्ड, आधार (ड्राइविंग लाइसेंस या पासपोर्ट) की डिटेल्स के साथ पैन कार्ड की फोटो, आधार कार्ड के फ्रंट व बैक साइड के साथ सेल्फी अपलोड करनी होती है.
  • अकाउंट वेरिफाई होने के बाद आप क्रिप्टो में खरीदारी कर सकते हैं और इसका भुगतान अपने बैंक खाते से करना होगा.

क्रिप्टो ट्रेडिंग पर ये हैं चार्जेज

  • एक्सचेंज फीस: क्रिप्टो खरीद या बिक्री ऑर्डर को पूरा करने के लिए एक्सचेंज फीस चुकानी होती है. भारत में अधिकतर क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज का फिक्स्ड फीस मॉडल है, लेकिन ट्रांजैक्शन की फाइनल कॉस्ट उस प्लेटफॉर्म पर निर्भर होती है जिस पर ट्रांजैक्शन पूरा हुआ है. ऐसे में इसे लेकर बेहतर रिसर्च करनी चाहिए कि कौन सा क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज सबसे कम ट्रांजैक्शन फीस ले रहा है. फिक्स्ड फीस मॉडल के अलावा क्रिप्टो एक्सचेंज में मेकर-टेकर फी मॉडल भी है. क्रिप्टो करेंसी बेचने वाले को मेकर कहते हैं और इसे खरीदने वाले को टेकर कहते हैं. इस मॉडल के तहत ट्रेडिंग एक्टिविटी के हिसाब से फीस चुकानी होती है.
  • नेटवर्क फीस: क्रिप्टोकरेंसी माइन करने वालों को नेटवर्क फीस चुकाई जाती है. ये माइनर्स शक्तिशाली कंप्यूटर्स क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार के जरिए किसी ट्रांजैक्शन को वेरिफाई और वैलिडेट करते हैं और ब्लॉकचेन में जोड़ते हैं. एक्सचेंज का नेटवर्क फीस पर सीधा नियंत्रण नहीं होता है. अगर नेटवर्क पर भीड़ बढ़ती है यानी अधिक ट्रांजैक्शन को वेरिफाई और वैलिडेट करना होता है तो फीस बढ़ जाती है. आमतौर पर यूजर्स को थर्ड पार्टी वॉलेट का प्रयोग करते समय ट्रांजैक्शन फीस को पहले से ही सेट करने की छूट होती है. लेकिन एक्सचेंज पर इसे ऑटोमैटिक एक्सचेंज द्वारा ही सेट किया जाता है ताकि ट्रांसफर में कोई देरी न हो. जो यूजर्स अधिक फीस चुकाने के लिए तैयार हैं, उनका ट्रांजैक्शन जल्द पूरा हो जाता है और जिन्होंने फीस की लिमिट क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार कम रखी है, उनके ट्रांजैक्शन पूरा होने में कुछ समय लग सकता है. माइनर्स को इलेक्ट्रिसिटी कॉस्ट और प्रोसेसिंग पॉवर के लिए यह फीस दी जाती है.
  • वॉलेट फीस: क्रिप्टो करेंसी को ऑनलाइन बैंक खाते के समान एक डिजिटल वॉलेट में रखा जाता है. अधिकतर वॉलेट में क्रिप्टो करेंसी के डिपॉजिट और स्टोरेज पर कोई फीस नहीं ली जाती है, लेकिन इसे निकालने या कहीं भेजने पर फीस चुकानी होती है. यह मूल रूप से नेटवर्क फीस है. अधिकतर एक्सचेंज इन-बिल्ट वॉलेट की सुविधा देते हैं. क्रिप्टो वॉलेट्स सिस्टमैटिक क्रिप्टो करेंसी खरीदने का विकल्प देते हैं और इसके इंटीग्रेटेड मर्चेंट गेटवे के जरिए स्मार्टफोन व डीटीएस क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार सर्विसेज को रिचार्ज कराया जा सकता है.

(यहां दी गई जानकारी एक्सचेंजों की वेबसाइट से ली गई है. निवेश शुरू करने की जो प्रक्रिया है, वह अलग-अलग एक्सचेंज पर थोड़ी भिन्न हो सकती है. लेख क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार के जरिए आपको निवेश की कोई सलाह नहीं दी जा रही है और यह महज जानकारी के लिए है. क्रिप्टोकरेंसी में निवेश से पहले अपने सलाहकार से जरूर संपर्क कर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

रेटिंग: 4.11
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 151
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *